Monday, September 20, 2021
Homeराज्यUP में अब तक 3 करोड़ 20 लाख लोगों को वैक्सीन की...

UP में अब तक 3 करोड़ 20 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है, 24 घंटों मेे किए गए 244203 कोविड टेस्ट

UP में अब तक 3 करोड़ 20 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है, 24 घंटों मेे किए गए 244203 कोविड टेस्ट

प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। विगत 24 घंटों मेे 2,44,203 कोविड टेस्ट किये गये।

लखनऊ । विज्ञप्ति । ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट 3 ट्री के मुख्यमंत्री के अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण के अभिनव प्रयोग से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति हर दिन के साथ बेहतर होती जा रही है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण देशों एवं अन्य प्रदेशों के अपेक्षा कम प्रदेश के 36 जिलों में कोविड के एक भी मामले नहीं आये है जबकि 37 जिलों में सिंगल डिजिट कोविड के मामले आये। प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोविड के 112 मामले आये है जो 28 मार्च, 2021 को 38 हजार मामले थे। प्रदेश में एक्टिव मामले 2461 है जो 30 अप्रैल, 2021 को 03 लाख 10 हजार थे। विगत 24 घंटों में 204 लोग कोविड से ठीक हुये। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। विगत 24 घंटों मेे 2,44,203 कोविड टेस्ट किये गये। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है, अब तक 03 करोड़ 20 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है। विगत 24 घंटों में 4 लाख 22 हजार कोविड की डोज लगायी गयी है। माह अगस्त के आखिरी तक 10 करोड़ टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया। सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर जाकर संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर टेस्ट के साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी। कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषज्ञ समिति की सलाह पर अस्पतालों में अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही है। जिसके क्रम में 6700 पीकू बेड बढ़ाने के लक्ष्य के सापेक्ष 6324 बेड तैयार हो गये है तथा शेष पर तेजी से कार्य चल रहा है। मेडिकल कालेज में पीकू के 100-100 बेड तथा जिला अस्पतालों में 20-25 बेड बढ़ाये जा रहे है। चिकित्सीय उपकरण जेम पोर्टल के माध्यम से पारदर्शी तरीके से क्रय किये जा रहे है। 

भविष्य में आक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। प्रदेश में 528 आक्सीजन प्लांट में से अबतक 133 प्लांट क्रियाशील हो गये है तथा शेष भी शीघ्र क्रियाशील हो जायेंगे। 31 जुलाई, 2021 तक अधिक से अधिक आॅक्सीजन प्लांट चालू किये। जाने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे कि सभी अस्पतालों में आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। कोविड नियंत्रण के लिए गठित टीम-09 को मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिये। टीकाकरण में आनलाइन पंजीकरण को अधिक से अधिक प्राथमिकता दी जाये जिससे कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लोग समय से अपना टीकाकरण करवा सके एवं कोविड प्रोटोकाल का पालन भी हो। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की सुविधा के लिए काॅमन सर्विस सेंटर पर निःशुल्क पंजीयन की सुविधा मुहैया कराई गई। आशा एवं एएनएम ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को समय से कोविड टीका केन्द्र पर लाकर टीकाकरण कराने में उनका सहयोग किया जाये। प्रदेश में 09 नए मेडिकल कालेजों की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है। कालेजों में 400 संकाय सदस्यों में से 200 संकायों सदस्यों की नियुक्ति भी हो गयी। मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिये गये है कि कोविड संक्रमण की नियंत्रित स्थिति को देखते हुए जनहित में राजस्व न्यायालयों की गतिविधियों को पुनः प्रारंभ किया जाए।  मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिये गये है कि कोविड के कारण निराश्रित हुई महिलाओं को अभियान चलाकर इन योजनाओं का लाभ दिलाया जाए। प्रदेश सरकार द्वारा बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कराये जाने के लिए सतत नियोजित प्रयास किये जा रहे हैं। विभागों, उद्योगों तथा आम आदमी को समुचित ढंग से बिजली आपूर्ति की जाए। अन्य विभाग जैसे बेसिक शिक्षा विभाग तथा आबकारी विभाग में भी नियुक्ति की प्रक्रिया पूर्ण होने पर अभ्यार्थियों को शीघ्र ही नियुक्ति पत्र दिये जायेंगे। लघु उद्योगों, एमएसएमई इकाइयों, बैंकों के माध्यम से लोन उपलब्ध कराकर विभिन्न एमएसएमई इकाइयों में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए।

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि विगत 24 घंटों मेे 2,44,203 कोविड टेस्ट किये गये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अब तक 03 करोड़ 20 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है। विगत 24 घंटों में 4 लाख 22 हजार कोविड की डोज लगायी गयी है। उन्होंने बताया कि माह अगस्त के आखिरी तक 10 करोड़ टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। सहगल ने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर जाकर संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर टेस्ट के साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी।सहगल ने बताया कि कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषज्ञ समिति की सलाह पर अस्पतालों में अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही है। जिसके क्रम में 6700 पीकू बेड बढ़ाने के लक्ष्य के सापेक्ष 6324 बेड तैयार हो गये है तथा शेष पर तेजी से कार्य चल रहा है। उन्होंने बताया कि मेडिकल कालेज में पीकू के 100-100 बेड तथा जिला अस्पतालों में 20-25 बेड बढ़ाये जा रहे है। उन्हांेने बताया कि चिकित्सीय उपकरण जेम पोर्टल के माध्यम से पारदर्शी तरीके से क्रय किये जा रहे है। भविष्य में आॅक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। प्रदेश में 528 आॅक्सीजन प्लांट में से अबतक 133 प्लांट क्रियाशील हो गये है तथा शेष भी शीघ्र क्रियाशील हो जायेंगे। उन्होंने बताया कि 31 जुलाई, 2021 तक अधिक से अधिक आॅक्सीजन प्लांट चालू किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे कि सभी अस्पतालों में आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।

सहगल ने बताया कि कोविड नियंत्रण के लिए गठित टीम-09 को मुख्यमंत्री द्वारा निर्देश दिये गये है कि टीकाकरण में आॅनलाइन पंजीकरण को अधिक से अधिक प्राथमिकता दी जाये जिससे कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लोग समय से अपना टीकाकरण करवा सके एवं कोविड प्रोटोकाल का पालन भी हो। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की सुविधा के लिए काॅमन सर्विस सेंटर पर निःशुल्क पंजीयन की सुविधा मुहैया कराई गई है। आशा एवं एएनएम ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को समय से कोविड टीका केन्द्र पर लाकर टीकाकरण कराने में उनका सहयोग किया जाये। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 09 नए मेडिकल कालेजों की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है। इन कालेजों में 400 संकाय सदस्यों में से 200 संकायों सदस्यों की नियुक्ति भी हो गयी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्देश दिये गये है कि कोविड संक्रमण की नियंत्रित स्थिति को देखते हुए जनहित में राजस्व न्यायालयों की गतिविधियों को पुनः प्रारंभ किया जाए। इसी प्रकार, थाना दिवस और तहसील दिवस के आयोजन की अनुमति भी दी जाए। प्रत्येक दशा में, प्रत्येक स्थान पर सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन कराया जाए। राजस्व विभाग द्वारा संचालित स्वामित्व, घरौनी और वरासत जैसे कार्यक्रमों ने आमजनमानस को बड़ी सुविधा प्रदान करने में सफलता प्राप्त की है। मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्देश दिये गये है कि कोविड के कारण निराश्रित हुई महिलाओं को अभियान चलाकर इन योजनाओं का लाभ दिलाया जाए। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कराये जाने के लिए सतत नियोजित प्रयास किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्देश दिये गये है कि विभागों, उद्योंगों तथा आम आदमी को समुचित ढंग से आपूर्ति की जाए।  खराब, जर्जर बिजली तारों-पोल के सुदृढ़ीकरण की कार्यवाही तेजी से की जाए। सहगल ने बताया कि प्रदेश में मिशन रोजगार के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। कल मुख्यमंत्री द्वारा कारागार एवं पुलिस विभाग के चयनित अभ्यार्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। इसी तरह अन्य विभाग जैसे बेसिक शिक्षा विभाग तथा आबकारी विभाग में भी नियुक्ति की प्रक्रिया पूर्ण होने पर अभ्यार्थियों को शीघ्र ही नियुक्ति पत्र दिये जायेंगे। मुख्यमंत्री जी द्वारा कल विभिन्न चयन बोर्ड के साथ बैठक की गयी थी। विभिन्न विभागों में 01 लाख से अधिक रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया दिसम्बर, 2021 तक पूरी करने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि लघु उद्योगों, एमएसएमई इकाइयों, बैंकों के माध्यम से लोन उपलब्ध कराकर विभिन्न एमएसएमई इकाइयों में लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी द्वारा लोन मेले के माध्यम से लगभग 31 हजार नई इकाइयों को लगभग 2500 करोड़ का ऋण बैकों के माध्यम उपलब्ध कराया गया है।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News