Wednesday, September 22, 2021
Homeसोनभद्रजसौली सिंचाई परियोजना " स्थगित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण -गिरीश पाण्डेय

जसौली सिंचाई परियोजना ” स्थगित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण -गिरीश पाण्डेय

भाजपा सरकार की यह वादाखिलाफी सैकडों गांव के किसानों के साथ धोखा है

सोनभद्र। भाजपा का चुनावी वादा याद दिलाते हुए पूर्वांचल नव निर्माण किसान मंच के नेता गिरीश पाण्डेय ने उपरोक्त उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि
लोकसभा तथा विधानसभा के चुनाव में सोनभद्र भाजपा के मुख्य एजेंडे में जसौली सिंचाई परियोजना का निर्माण सुनिश्चित कराया जाना था ।

गिरीश पांडेय ने कहा कि नगवां तथा चतरा विकास खंड के सैकडों गांव के किसानों से चुनावी भाषणों में जसौली सिंचाई परियोजना को पुरा करने का वादा किया गया था । भाजपाई प्रचारकों तथा निर्वाचित जनप्रतिनिधियों न की उदासीनता का परिणाम रहा कि सरकार बनने के बाद शासन-प्रशासन से खबर मिली कि उत्तर प्रदेश की सरकार ने जसौली सिंचाई परियोजना को अस्वीकृत कर दिया है जबकि नगवां विकास खंड का लगभग पूरा क्षेत्र असिन्चित है जिसकी भरपाई उक्त सिंचाई परियोजना कर सकती थी। सिंचाई के अभाव में किसानों की उत्पादन क्षमता कम होने के कारण यह क्षेत्र आज भी मुख्य धारा से कटा हुआ है । लोगों के पास क्रय शक्ति का अभाव है, अर्थात यहां बेहतर पैदावार ना होने के कारण किसान आर्थिक रुप से कमजोर हैं।

गिरीश पाण्डेय ने जसौली सिंचाई परियोजना की स्थापना को उक्त क्षेत्र के लिए मील का पत्थर साबित होगी।नगवां क्षेत्र के किसानों के लिए जसौली परियोजना महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि जल संचय तथा सिंचाई की व्यवस्था ही किसानों तथा आम जनजीवन का मुख्य आधार है। सरकार को ऐसी परियोजनाओं के लिए हांथ पीछे नहीं खींचना चाहिए । गिरीश पाण्डेय ने पुनः शासन से जसौली सिंचाई परियोजना की स्थापना के की मांग करते हुए जिलाधिकारी सोनभद्र अभिषेक कुमार सिंह से शासन को प्रस्ताव भेजने की मांग की है।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News