Saturday, July 31, 2021
Homeदेश1,128 करोड़ की सम्पत्ति जब्त , गैंगस्टरों और माफियाओं के खिलाफ योगी...

1,128 करोड़ की सम्पत्ति जब्त , गैंगस्टरों और माफियाओं के खिलाफ योगी सरकार की सख्त कार्रवाई

सोनभद्र जेल में बंद सुंदर भाटी गिरोह के 9 सदस्यों की 63.24 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की गई है।

अन्य कुख्यात अपराधियों पर योगी आदित्यनाथ सरकार की नजर

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में अपराधियों, गैंगस्टरों और माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई जारी रखी है। एक साल और तीन महीने की अवधि में यूपी सरकार ने सख्त उत्तर प्रदेश गैंगस्टर्स और एंटी-गैंगस्टर के तहत खूंखार गैंगस्टर अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी सहित कम से कम 25 माफियाओं की 1128 करोड़ 23 लाख 97 हजार 800, 46 रुपये की चल-अचल संपत्ति सहित अवैध संपत्तियों को जब्त कर लिया है। उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त डीजीपी प्रशांत कुमार ने आंकड़े जारी करते हुए बताया कि इस अवधि के दौरान जिन संपत्तियों को जब्त और ध्वस्त किया गया है, उनमें से अधिकांश हाई-प्रोफाइल माफिया अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी की हैं।

एडीजी प्रशांत कुमार के मुताबिक, जनवरी 2020 से अप्रैल 2021 के बीच इन 25 कुख्यात गैंगस्टरों के कम से कम 22,259 साथियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत 5,558 मामले दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही करोड़ों की संपत्ति जब्त की गई है। यूपी पुलिस ने कहा कि,योगी सरकार के सख्त जीरो टॉलरेंस के रवैये ने इन गैंगस्टरों का मनोबल गिरा दिया है।आंकड़ों से पता चला है कि यूपी सरकार ने 33 गैंगस्टरों की लिस्ट तैयार की है, सभी फिलहाल जेल में हैं, जिनकी संपत्तियों की जांच की जा रही है। बता दें कि इनमें से लगभग 25 नामों की निगरानी गृह विभाग कर रहा है जबकि अन्य आठ की अवैध संपत्तियों की जांच यूपी पुलिस कर रही है। गृह विभाग के आंकड़े बताते हैं कि इस लिस्ट में पूर्व सांसद अतीक अहमद सबसे ऊपर हैं। उसके बाद मुख्तार अंसारी और उनके सहयोगी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक,पूर्व सांसद अतीक अहमद उन गैंगस्टरों की सूची में सबसे ऊपर हैं जिनकी संपत्ति या तो योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा जब्त या ध्वस्त कर दी गई थी।  

एक रिपोर्ट के मुताबिक, अतीक अहमद इस समय गुजरात की साबरमती जेल में बंद है। माफिया से राजनेता बने, उनके खिलाफ कम से कम 70 मामले दर्ज हैं, जिसमें इलाहाबाद में 2005 में बसपा विधायक राजू पाल की हत्या भी शामिल है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब तक उसके गिरोह के 89 सदस्यों को गिरफ्तार किया है और 3.25 अरब रुपये से अधिक की उसकी अवैध संपत्तियों को या तो जब्त या नष्ट कर दिया है। इसके अतिरिक्त, यूपी सरकार ने जेल में बंद समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद के 60 गुर्गों के हथियारों के लाइसेंस रद्द कर दिए। इसके अलावा गिरोह के खिलाफ 21 प्राथमिकी दर्ज की गई है और 9 आरोपियों को जेल भेजा गया है।

सोनभद्र जेल में बंद सुंदर भाटी गिरोह के 9 सदस्यों की 63.24 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की गई है। इसके अलावा यूपी पुलिस ने कुख्यात ध्रुव कुमार उर्फ कुंटू सिंह गिरोह के 43 अपराधियों को गिरफ्तार किया है। वे फिलहाल आजमगढ़ की बलिया जेल में बंद हैं। इस गिरोह की करीब 18 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है। यूपी पुलिस के अनुसार, 25 माफियाओं की 625 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति और भाजपा मुख्यालय द्वारा पहचाने गए नामी अपराधियों के गिरोह के 8 सदस्यों को भी या तो ध्वस्त कर दिया गया है या जब्त कर लिया गया है। एडीजी ने यह भी पुष्टि की कि विभिन्न अपराधों में शामिल 515 विभिन्न आपराधिक गिरोहों के सदस्यों और सहयोगियों के खिलाफ लगभग 203 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। हालांकि एडीजी ने राज्य के 25 माफियाओं में से केवल 4 कुख्यात माफिया और उनके गुर्गों की जब्त की गई संपत्ति का विवरण जारी किया है, अन्य के नामों का खुलासा नहीं किया गया है। 

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News