Friday, September 17, 2021
Homeब्रेकिंगलाल सलाम की उगाही वाले पत्र से सहमे सोनभद्र के तीन सगे...

लाल सलाम की उगाही वाले पत्र से सहमे सोनभद्र के तीन सगे भाई

पिछले कुछ वर्षों में हार्डकोर नक्सिलयों के पुलिस के हत्थे चढ़ जाने अथवा मुठभेड़ में मारे जाने के बाद सुकून की सांस ले रहे सोनभद्र में शनिवार की सुबह तीन सगे भाइयों के घरों पर “लाल सलाम” लिखा खत चस्पा मिलने से सनसनी फैल गई है। पन्नूगंज थाना क्षेत्र के सफरीपुर गांव में कथित जालिम के नाम से चस्पा पत्र में क्षत्रिय परिवार को ठाकुर के नाम से संबोधित है कर एक सप्ताह में 50 लाख रुपये न देने पर बम से पूरे परिवार को उड़ाने की धमकी दी गई है। शनिवार की सुबह जैसे ही यह बात पुलिस तक पहुंची हड़कंप मच गया।

फिलहाल चस्पा पत्र को कब्जे में लेने के साथ ही पुलिस छानबीन में जुट गई है। जालिम नाम के एक व्यक्ति द्वारा नक्सली होने के आरोप में जेल काटे जाने के कारण इस पत्र से ग्रामीणों में दहशत का आलम है। वहीं कहीं यह किसी की शरारत तो नहीं, इस दृष्टि से भी पुलिस मामले की जांच कर रही है। शनिवार की सुबह करीब सात बजे जब ग्रामीणों की नजर सगे भाई राम सिंह, लक्ष्मी सिंह, बलराम सिंह के घरों पर गई, तो घर के बाहरी दिवार पर लाल सलाम लिखा खत चस्पा देख हैरान रह गए। यह देख संबंधित परिवार के लोगों की तो नींद ही उड़ गई।

चस्पा पत्र में कथित जालिम की तरफ से लाल सलाम जिंदाबाद करते हुए लिखा गया है कि ‘ हम ठाकुर को सूचना देते हैं कि पूरे परिवार को मारकर बर्बाद कर दिया जाएगा। हम जेल काट कर आ गए, अब हमें बम ब्लास्ट करने से पुलिस थाने का कोई डर नहीं है। एक सप्ताह के अंदर 50 लाख दो नहीं तो पूरे परिवार को बम से उड़ा देंगे। पत्र में महेंद्र प्रधान द्वारा रात को आकर गाली गलौज करने का भी जिक्र किया गया है। चूंकि तीन-चार दिन पूर्व राम सिंह और उनके भाइयों से गांव के ही जालिम नामक व्यक्ति के परिवार से विवाद हुआ था। इस कारण पूरे गांव के लोग इसको लेकर सकते में आ गए। ग्रामीणों ने तत्काल पन्नूगंज थाने और 112 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी।

जानकारी मिलते ही प्रभारी निरीक्षक पन्नूगंज दल बल के साथ गांव में पहुंच संबंधित परिवार से जानकारी लेने के बाद कथित जालिम के बारे में भी जानकारी जुटाई। पता चला कि जिस जालिम के परिवार से राम सिंह एवं अन्य का विवाद हुआ था वह इस समय घर पर नहीं था। परिवार वालों का कहना था कि वह काम के सिलसिले में बाहर गया हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि जालिम पूर्व में नक्सल मूवमेंट से ही जुड़ी एक घटना में चंदौली की नौगढ़ पुलिस द्वारा जेल भी भेजा जा चुका है। इसलिए इस पत्र की संवेदनशीलता बढ़ गई। जालिम ने ही यह चिट्ठी चस्पा की है या विवाद के आड़ में जालिम का नाम लेकर किसी ने शरारत करने की कोशिश की है? यह तो फिलहाल जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।पुलिस जांच में जुटी हुई है, देखना होगा कि यह किसी की शरारत मात्र है अथवा सोनभद्र की वादियों में एक बार फिर से बारूद की महक बढ़ेगी।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News