Wednesday, September 22, 2021
Homeब्रेकिंगयूपी में हाई अलर्ट घोषित, श्रीकृष्ण और रामजन्मभूमि परिसर में बढ़ाई गई...

यूपी में हाई अलर्ट घोषित, श्रीकृष्ण और रामजन्मभूमि परिसर में बढ़ाई गई सुरक्षा

लखनऊ में दो आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. इसके मद्देनजर मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि और अयोध्या में श्रीरामजन्म भूमि परिसर में परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इसके साथ ही होटलों और स्टेशनों पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है.

मथुरा । लखनऊ में रविवार को दो आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. वहीं, मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर और अयोध्या में श्रीरामजन्म भूमि परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इसके साथ ही पुलिस, एलआईयू टीम, बीडीएस और डॉग स्क्वायड की टीम होटल, ढाबे और रेस्टोरेंट की सघनता से चेकिंग कर रही है. इसके अलावा सपास के इलाकों में घूम रहे संदिग्ध व्यक्तियों से भी पूछताछ की जा रही है.मथुरा में हाई अलर्ट.श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर के गेट नंबर 1, 2 और 3 पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किए गए हैं.

पूरे परिसर में बीडीएस टीम, डॉग स्क्वायड, पुलिस और ब्लैक कमांडो द्वारा सघनता से जांच की जा रही है. हाई अलर्ट घोषित होने के बाद स्थानीय पुलिस द्वारा शहर के सभी चौराहे पर चेकिंग की जा रही है. वहीं, मथुरा जंक्शन पर आरपीएफ और जीआरपी चेकिंग कर रही है. इसके अलावा कृष्ण जन्मभूमि परिसर के आसपास होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट में चेकिंग की जा रही है.

दूरदराज से आने वाले श्रद्धालुओं की जन्मभूमि गेट पर पुलिस सघनता से जांच कर रही है. एसपी आनंद कुमार ने बताया कि लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद मथुरा श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. आसपास के इलाकों में सघनता से चेकिंग की जा रही और परिसर के पास घूम रहे संदिग्ध व्यक्तियों से भी पूछताछ की जा रही है.

रामनगरी में भी सुरक्षा चाक-चौबंद
लखनऊ में आतंकियों के पकड़े जाने की खबर मिली वैसे ही अयोध्या के सभी प्रमुख मार्गों पर चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया. हर आने-जाने वाले वाहनों की चेकिंग कर एहतियातन सुरक्षा व्यवस्था में बढ़ोतरी कर दी गई है.

मालूम हो कि वर्ष 2005 में रामजन्मभूमि पर लश्करे तैय्यबा के फिदायीन दस्ते के आतंकियों ने हमला बोला था. उस वक्त सभी आतंकी मारे गए थे. अयोध्या में इन दिनों राम मंदिर का निर्माण चल रहा है, जिसके मद्देनजर वहां पर सुरक्षाबलों की सक्रियता बढ़ गई है. अयोध्या के प्रमुख प्रवेश मार्ग बंधा तिराहा, टेढ़ी बाजार चौराहा, हनुमानगढ़ी चौराहा और रामजन्मभूमि दर्शन मार्ग पर सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त कर दी गई है. बताते चलें कि राम नगरी अयोध्या के प्रमुख मठ मंदिर पहले भी मुस्लिम आतंकी संगठनों के निशाने पर रहे हैं. साल 2002 में अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर परिसर के पास प्रेशर कुकर बम बरामद किया गया था. साल 2005 में अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में लश्कर के पांच आतंकियों ने फिदायीन हमला किया था. वहीं साल 2007 में फैजाबाद कचहरी में भी सीरियल ब्लास्ट की घटना अंजाम दी गई थी. अयोध्या में पहले आतंकियों द्वारा घटना अंजाम दिए जाने की कोशिशों के मद्देनजर लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों दी गई जानकारी के बाद सतर्कता बढ़ा दी गई है.

बता दें कि एटीएस की टीम ने लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र के दुबग्गा और मंडियांव थाना क्षेत्र से दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है. इन आतंकियों का संबंध अलकायदा के अंसार गजवतुल हिंद नाम के आतंकी संगठन से है. इनके पास से एक प्रेशर कुकर बम, विस्फोटक और अन्य हथियार मिले हैं. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अनुसार आतंकी मिनहाज अहमद और मसीरुद्दीन 15 अगस्त से पहले यूपी में बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News