Wednesday, September 22, 2021
Homeफीचरबरसात और बदइंतजामी ने किया जनजीवन अस्त-व्यस्त।

बरसात और बदइंतजामी ने किया जनजीवन अस्त-व्यस्त।

रावर्टसगंज नगरपालिका परिषद् की सड़कों तथा आसपास के गांवों मे भारी जलभराव।

समाजसेवी गिरीश पाण्डेय ने रहवासियों की मदद के लिए जिलाधिकारी से की बात ।।

सोनभद्र। शुक्रवार शाम से शुरु हुई बरसात के कारण शनिवार सुबह तक रावर्टसगंज नगरपालिका परिषद् की सड़क पर जहां पानी भरने से लोग परेशान हो रहे थे तो वहीं राबर्ट्सगंज शहर से सटे आसपास के गांव बढ़ौली तथा उरमौरा में बनी कालोनियों की सड़क पर भी जलभराव का असर देखने को मिला ।

नाली तथा बरसात का पानी लोगों के घरों मे जाने लगा तो बढ़ौली निवासी संतोष तिवारी, सोनू पाण्डेय ने सोशलमिडिया पर जलभराव की तस्वीर वायरल कर मदद की अपील की तथा संतोष तिवारी और उरमौरा के निर्वाचित क्षेत्र पंचायत सदस्य जलाल हैदर खान ने पूर्वांचल नव निर्माण मंच के उपाध्यक्ष गिरीश पाण्डेय को गांव मे जलभराव से जनजीवन प्रभावित होने की जानकारी दी ।

जिसे गंभीरता से लेते हुए गिरीश पाण्डेय ने जिलाधिकारी सोनभद्र अभिषेक कुमार सिंह को फोन पर नगरपालिका परिषद् रावर्टसगंज की सड़कों पर पानी भरने तथा बढ़ौली तथा उरमौरा गांव मे भारी जलभराव की जानकारी देते हुए जल निकासी सुनिश्चित कराने की मांग की । मंच के नेता गिरीश पाण्डेय ने हो रहे जलभराव के लिए निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पिछले चार साल के कार्यकाल मे नाली निर्माण तथा जलभराव से छुटकारा देने के लिए करोड़ों रुपए नगरपालिका परिषद् रावर्टसगंज द्वारा खर्च करने के बावजूद हालात आज बेहद खराब हैं । नगरपालिका से बाहर जाने वाली सभी नालियों का निर्माण अधूरा ही है और आवंटित धन का बंदरबांट कर लिया गया है । जिसका खामियाजा आज नगरवासी नारकीय जीवन जीकर भुगत रहे हैं। गिरीश पाण्डेय ने गांव मे भी कराये गये कामों मे घोर अनियमितता का आरोप लगाते हुए कहा कि गांव मे भी विकास विभाग केवल विकास कार्य की खानापूर्ति करता रहा है, जिसका दुष्परिणाम है कि आज थोड़ी सी बरसात मे जिला मुख्यालय से सटे गांव पानी की चपेट मे हैं ।

गिरीश पाण्डेय ने नगरपालिका परिषद् रावर्टसगंज मे कराये गये नाली निर्माण तथा जल निकासी के सभी चार साल के कामों की उच्चस्तरीय टीम गठित कर जाँच कराने की मांग जिलाधिकारी सोनभद्र से की। गिरीश पाण्डेय ने बताया कि अभी पिछले साल पच्चीस करोड़ से अधिक रुपये केवल नगरपालिका परिषद् रावर्टसगंज से गंदा पानी बाहर निकालने के लिए आवंटित हुआ था, आखिर उक्त धन कहाँ खर्च हुआ ?यह जांच का विषय है।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News