Saturday, September 18, 2021
Homeफीचरडिजीटल इण्डिया का टावर लगाने के नाम पर हुई लाखों की ठगी

डिजीटल इण्डिया का टावर लगाने के नाम पर हुई लाखों की ठगी

पीड़ित व्यक्ति डिप्रेशन का हुआ शिकार,पुलिस अधीक्षक को परार्थनापत्र देकर ठगों पर कार्यवाही करने की लगायी गुहार।

सोनभद्र। डिजीटल इण्डिया का टावर लगाने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी करने वालों पर कार्यवाही करने के लिए भुगतभोगी ने पुलिस से लगाई गुहार।पुलिस अधीक्षक को दिए प्रार्थना पत्र में चतरा विकास खण्ड के कोटास गांव निवासी सूर्यपाल ने कहा है कि दिनांक 27.06.2019 को उनके मो ० नम्बर 8173828525 पर मो ० नं 0 7571029071 से एक फोन आया। फोन करने वाला व्यक्ति अपना नाम प्रकाश शुक्ल बताया और कहा कि आपके कोटास वाले मकान पर प्रधानमंत्री डिजीटल इण्डिया का टावर लगने वाला है और उसके एवज में आपको तीस हजार रूपया प्रतिमाह किराया मिलेगा ।

उसने कहा कि ब्लाक द्वारा आपका नाम सूर्यपाल सिंह पुत्र स्व ० ईश्वर सिंह ग्राम कोटास थाना पन्नूगंज सोनभद्र चयनित हुआ है । आप अपनी पत्नी अर्चना पत्नी सूर्यपाल सिंह पता उपरोक्त के नाम रजिस्टेशन के लिए मु 0 850 आठ सौ पचासरूपये तत्काल भेज दीजिए प्रार्थी दिनांक 27.06.2019 को ग्रामीण इलाहबाद बैकशाखा संडा सोनभद्र अपने खाता से आर.टी.जी.एस कर दिया ।पुनः दोबारा पैसा फाईल कम्पलीट कराने के नाम पर दिनांक 29.06.2019 को 8280 आठ हजार दो सौ अस्सी रूपये उन्होंने अपने खाता से आर.टी.जी.एस कर दिया प्रकाश शुक्ला द्वारा दिांक 01.07.2019 को गारण्टी के लिए 100000 एक लाख रूपये की मांग की गयी और बताया कि हमारे बड़े साहब महेन्द्र कपूर साहब है ।

जिनका खाता सं 0 20356817520 आई.एफ.एस.सी कोड- एस.बी.आई एन 0014461 दिल्ली जिसका मो 0 नं 0 8382020308 है, में पैसा तत्काल भेज दीजिए। महेन्द्र कपूर बड़े साहब के फोन आने पर उनके द्वारा बताया गया कि तत्काल पैसा भेज दीजिए और छ : माह के अन्दर टावर आपके मकान पर लग जाएगा प्रार्थी कमशः दिनांक 01.07.2019 को 50000 पचास हजार व दिनांक 03.07 . 2019 को 50000 पचास हजार भेज दिया मेरे वाट्सअप नं 0 9838415719 पर एग्रीमेंट की कापी भेजी गयी ।

छ : माह बीत जाने के बाद पीड़ित उक्त महेन्द्र कपूर के नम्बर पर सम्पर्क करना चाहा परन्तु सम्पर्क नही हो सका ।पीड़ित ने बताया कि टावर लगाने व किराया पाने के चक्कर में वह ठगी का शिकार हो गया है । ठगों के कुचक्र में फंस कर पीड़ित आर्थिक तंगी में आ गया है जिससे डिप्रेशन का शिकार हो रहा है ।

पुलिस अधीक्षक से उक्त।प्रकरण की जाँच कराकर पीड़ित का पैसा दिलाने के लिए सांसद ने भी पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखा है।आपको बताते चलें कि जब से डिजिटल इंडिया का प्रचार प्रसार बढ़ा है तभी से साइबर ठग भी भोले भाले ग्रामीणों को अपना शिकार बना रहे हैं।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News