Wednesday, September 22, 2021
Homeराजनीतिगैर भाजपा दलों से गठबंधन - सपा है प्राथमिकता , शिवपाल ने...

गैर भाजपा दलों से गठबंधन – सपा है प्राथमिकता , शिवपाल ने तोड़ी चुप्पी,

इससे पहले इटावा में शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि 2022 में अगर हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार बनती है तो किसानों और मुसलमानों को पूरा सम्मान मिलेगा.

ईमानदार पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें

हरदोई ।  उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सभी सियासी दल अब माहौल बनाना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में मंगलवार को अलीगढ़ जाते समय हरदोई पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने गठबंधन के सवाल पर बड़ा बयान दिया. शिवपाल ने कहा कि दो साल पहले उन्होंने नारा दिया था कि गैर भाजपाई दल उनके साथ मिलकर काम करें तो उनकी प्राथमिकता है.

इसलिए उनका आज भी यही कहना है कि उनकी पहली प्राथमिकता में समाजवादी पार्टी ही है.उन्होंने कहा कि मुसलमानों पर जहां शक हो वहां देश के लिए हानि है. आजादी की लड़ाई हो या कोई और अन्य परिस्थितियां मुसलमान हमेशा देशभक्त रहा है उनकी देशभक्ति पर शंका नहीं करनी चाहिए. यह उनका सुझाव है. अलीगढ़ शहरों के नाम बदलने को लेकर शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि इस सरकार ने कोई नया काम नहीं किया है जो भी निर्णय लिए गए हैं ना वह देश हित में है ना जनता के हित में है.

इसीलिए हर तरह से प्रदेश और देश काफी पिछड़ चुका है. क्योंकि देश और प्रदेश की सरकार असफल है. इस दौरान संडीला बॉर्डर से लेकर हरदोई तक उनका कई जगह भव्य स्वागत हुआ.इससे पहले इटावा में शिवपाल सिंह यादव ने कहा था कि 2022 में अगर हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार बनती है तो किसानों और मुसलमानों को पूरा सम्मान मिलेगा.

किसी के साथ धर्म जाति से कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा. किसान सरकार के द्वारा पास किए गए काले कानून का विरोध कर रहा है. लेकिन, सरकार किसानों की समस्याओं को नहीं सुन रही है. जिसको लेकर किसान भी महीनों से धरने पर बैठे हैं. सरकार को किसानों की बात सुनना चाहिए क्योंकि किसान ही अन्नदाता है.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News