Saturday, September 18, 2021
Homeराजनीतिकुछ लोग यहां भी तालिबानीकरण करना चाहते हैं : योगी

कुछ लोग यहां भी तालिबानीकरण करना चाहते हैं : योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज विधानसभा में अनुपूरक बजट पर चर्चा के दौरान विपक्ष को आड़े हाथों लिया. विपक्ष पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग तो तालिबान का समर्थन कर रहे हैं. सदन में बोलते हुए सीएम ने कहा, अफगानिस्तान में महिलाओं और बच्चों के साथ क्रूरता बरती जा रही है. अफगानिस्तान में महिलाओं और बच्चों का कत्लेआम हो रहा है, लेकिन कुछ लोग बेशर्मी से तालिबान का समर्थन कर रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ लोग यहां भी तालिबानीकरण करना चाहते हैं.

ईमानदार और निड़र पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें

लखनऊ । विज्ञप्ति। यूपी विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन गुरुवार को अनुपूरक बजट 2021–2022 पर चर्चा के दौरान जवाब देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई मुद्दों पर विपक्ष पर तीखा हमला किया. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि विपक्ष के कुछ लोग बेशर्मी के साथ अफगानिस्तान में उस तालिबान का समर्थन कर रहे हैं, जो महिलाओं और बच्चों के साथ क्रूरता कर रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ लोग यहां भी तालिबानीकरण करना चाहते हैं.

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद यूपी में सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क, मुस्लिम बोर्ड, AMU के छात्रों और शायर मुनव्वर राना ने तालिबान का समर्थन किया था. सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने तालिबान का समर्थन करते हुए अफगानिस्तान में तालिबानी गतिविधियों को आजादी की लड़ाई बताया था. बर्क ने कहा था कि तालिबान अफगानी लोगों की अजादी की लड़ाई लड़ रहा है. अफगानिस्तान की आजादी उसका अपना मसला है. आखिर अफगानिस्तान में अमेरिकी हुकूमत क्यों? तालिबान वहां की ताकत है और अफगान लोग उसकी अगुवाई में आजादी चाहते हैं’. वहीं मुस्लिम बोर्ड ने तालिबान का समर्थन करते हुए कहा था, आपको हिंदुस्तानी मुसलमान का सलाम. वहीं AMU के छात्रों ने तालिबान का समर्थन करते हुए सोशल मीडिया पर बधाई संदेश दिए थे. वहीं मुनव्वर राना ने कहा था, भारत में तालिबान से ज्यादा क्रूरता है. यहां रामराज नहीं, कामराज है. जिसके बाद सीएम योगी ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कुछ लोग यहां भी तालिबानीकरण करना चाहते हैं.

इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेसी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कुछ सरकारें माफियाओं को बचाने में लगी थीं. चेतावनी देते हुए कहा कि जहां-जहां माफिया जाएंगे, बुलडोजर उनके पीछे-पीछे जाएगा. हमारी सरकार में माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की गई, करीब 1500 करोड रुपये की संपत्ति उनसे छुड़वाई गई है. इन माफियाओं से छुड़वाई गई जमीनों पर गरीब, पिछड़े और दलित रहेंगे, उनके लिए आवास बनाये जाएंगे.

विधानसभा में अनुपूरक बजट पर चर्चा के दौरान नेता सदन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले पांच वर्ष के दौरान प्रदेश में बज़ट का दायरा लगभग दोगुना हुआ है. 2016-17 में तीन लाख 40 हजार करोड़ का बजट था. आज छह लाख करोड़ रुपये तक का बजट पहुंच गया है. 24 करोड़ की आबादी वाले राज्य में 2016-17 का बजट ऊंट के मुंह में जीरा था. सीएम ने कहा कि बड़े कार्य के लिए बड़ी सोच भी जरूरी है. प्रति व्यक्ति आय दोगुनी हो गयी है. प्रदेश की GSDP पांच वर्ष पहले 10-11 लाख करोड़ के आसपास थी, आज हम इसे 20-21 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाने में सफल हुए हैं. 2015-16 में उत्तर प्रदेश देश की अर्थव्यवस्था में छह नंबर पर था, वहीं उत्तर प्रदेश आज नंबर दो की अर्थव्यवस्था बन गया है. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मां गंगा से लेकर सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद यूपी को मिला, लेकिन पहले इन पर कभी ध्यान नहीं दिया गया. बस अपने नाम पर स्मारक बनाए गए. उत्तर प्रदेश में भगवान राम भगवान कृष्ण का जन्म हुआ. हमारी सरकार में भगवान राम की अयोध्या को विकसित करके वैश्विक पटल पर लाया जा रहा है, अयोध्या को पुराना वैभव वापस मिल रहा है. पहले यूपी में भगवान राम, कृष्ण और शंकर जी साम्प्रदायिक नजर से देखे जाते थे. 2017 के बाद अब धारणा बदली है. बहुसंख्यक अब इनसे बात करने को तैयार नहीं है और अब यह लोग दण्डवत हो रहे हैं कि हम भी भगवान राम कृष्ण और शंकर के भक्त हैं. आज देश का पर्यटक सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में आना चाहता है. पर्यटकों के मामले में यूपी पहले नम्बर पर पहुंच गया है. निवेश के मामले में हम पहले स्थान पर पहुंच गए हैं. 

सीएम योगी ने कहा कि हमारी सरकार में गरीबों को अनाज दिया जा रहा है, नेता प्रतिपक्ष को अच्छा नहीं लग रहा है. चार साल में एक लाख 52 हजार कन्याओं की शादी हुई है. हमारे लिए 24 करोड़ लोग हमारे परिवार के सदस्य हैं. हम किसी एक परिवार के विकास की बात नहीं करते. हम सम्पूर्ण प्रदेश की जनता के विकास के लिए काम करते हैं. यह पहली महामारी है, जब एक भी गरीब भूखा नहीं रहा. कोरोना में भूख से कोई भी गरीब नहीं मरा. 

सदन में बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी ने अमेरिका, ब्राजील, और इंग्लैंड जैसे देशों और देश में अन्य प्रदेशों से उत्तर की कोविड व्यवस्था की तुलना की. योगी ने कहा कि अमेरिका में कुल केस तीन करोड़ 80 लाख और मौतें 6.41 लाख हुई. ब्राजील में कुल केस दो करोड़ और मौतें 5.70 लाख, रिकवरी 92 प्रतिशत रही. देश में महाराष्ट्र की आबादी उत्तर प्रदेश की तुलना में लगभग आधी है. महाराष्ट्र की लगभग 12 करोड़ आबादी है वहां 64 लाख कोविड केस और 1.39 लाख मौतें हुई हैं.  

सदन में रोजगार पर बोलते हुए नेता पक्ष योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस सरकार में साढ़े चार लाख नौकरी दी गईं हैं. कांग्रेस की नेता को महिला होने के नाते हमारी सरकार को धन्यवाद देना चाहिए कि पुलिस भर्ती में 20 हजार से अधिक महिलाओं को नौकरी मिली. पंचायत चुनाव में बड़ी संख्या में महिलाएं जीत कर आईं. इस दौरान विपक्ष पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग तो तालिबान का समर्थन कर रहे हैं, अफगानिस्तान में महिलाओ और बच्चों के साथ क्रूरता बरती जा रही है.

एक करोड़ युवाओं को स्मार्ट फोन 
इस दौरान सीएम ने घोषणा करते हुए कहा कि तीन हजार करोड़ की निधि से एक करोड़ युवाओं को स्मार्ट फोन दिया जाएगा. हमारे प्रदेश का नौजवान यदि प्रतियोगी परीक्षा देता है तो उसे तीन प्रतियोगी परीक्षा में जाने के लिए भत्ता दिया जाएगा. इसके लिए एक कोष का गठन किया जाएगा. अनुपूरक बजट में इसके लिए प्रावधान किया गया है.

बता दें कि मानसून सत्र के दूसरे दिन योगी सरकार ने विधानसभा में 7301.5 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया था. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी योगी सरकार बुधवार को वित्तीय वर्ष 2021-22 का पहला अनुपूरक बजट विधानसभा में पेश किया था. अनुपूरक बजट के जरिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणाओं और अगले 6 माह में पूरी की जा सकने वाली परियोजनाओं को अमली जामा पहनाने के लिए 7301.5 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट विधानसभा में पेश किया गया था. इससे पहले मंत्री परिषद की बैठक में बजट के प्रस्‍तावों पर मुहर लगी.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News