Monday, September 20, 2021
Homeराजनीतिइटावा में मुलायम परिवार का कब्जा बरकरार ,UP में निर्विरोध चुने गए...

इटावा में मुलायम परिवार का कब्जा बरकरार ,UP में निर्विरोध चुने गए BJP के 21 जिला पंचायत अध्यक्ष

सपा अपना गढ़ बचाने में कामयाब रही। इटावा से मुलायम सिंह के भतीजे व सपा प्रत्याशी अभिषेक यादव उर्फ अंशुल यादव निर्विरोध निर्वाचित हुए। हालांकि इटावा जिला पंचायत पद के लिए भाजपा पूरी तरह से जोड़ लगाई हुई थी। लेकिन चाचा भतीजे की अघोषित तालमेल ने भाजपा का खेल बिगाड़ दिया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 22 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। इनमें से 21 उम्मीदवार सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हैं। सत्ताधारी भाजपा भले ही 21 जिला पंचायतों पर कब्जा जमाने में कामयाब रही हो लेकिन समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के घर इटावा में अपने लिए उम्मीदवार तक नहीं तलाश पाई। सपा अपना गढ़ बचाने में कामयाब रही। इटावा से मुलायम सिंह के भतीजे व सपा प्रत्याशी अभिषेक यादव उर्फ अंशुल यादव निर्विरोध निर्वाचित हुए। हालांकि इटावा जिला पंचायत पद के लिए भाजपा पूरी तरह से जोड़ लगाई हुई थी। लेकिन चाचा भतीजे की अघोषित तालमेल ने भाजपा का खेल बिगाड़ दिया। 

इस जीत के साथ ही इटावा जिला पंचायत में मुलायम परिवार का 32 सालों का वर्चस्व कायम रहा। साल 1987 में पहली बार जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर मुलायम परिवार ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद से यह सीट लगातार मुलायम परिवार के कब्जे में रही है। इटावा में 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 2 सीटें मिली थी जबकि 2014 और 2019 में इटावा संसदीय क्षेत्र पर भाजपा ने जीत हासिल की थी। इसके बावजूद पार्टी जिला पंचायत सदस्य के रूप में सिर्फ एक उम्मीदवार को ही जीत दिला पाई। इटावा जिला पंचायत में कुल 24 सीट है जिनमें से 9 पर समाजवादी पार्टी, 8 पर  प्रसपा, एक पर बसपा, एक पर भाजपा और पांच निर्दलीय जीते हैं। माना जा रहा है कि भाजपा ने यहां पूरा जोर लगाया हुआ था लेकिन अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के साथ आ जाने से खेल बिगड़ गया।

प्रदेश के 22 जिलों सहारनपुर, बहराइच, इटावा, चित्रकूट, आगरा, गौतम बुद्ध नगर, मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अमरोहा, मुरादाबाद, ललितपुर, झांसी, बांदा, श्रावस्ती, बलरामपुर, गोंडा, गोरखपुर, मऊ, वाराणसी, पीलीभीत और शाहजहांपुर में जिला पंचायत के अध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। उन्होंने बताया कि राज्य के बाकी 53 जिलों में आगामी तीन जुलाई को मतदान होगा। उसी दिन अपराहन तीन बजे से मतगणना शुरू होगी। इटावा में समाजवादी पार्टी की जीत हुई है वहीं शेष जिलों में भाजपा के उम्मीदवार विजयी रहे हैं। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में जनकल्याण के कदमों व सांगठनिक नेतृत्व की कुशलता से जनता का विश्वास भाजपा में और दृढ़ हुआ है। यही कारण है कि जनता के चुने प्रतिनिधि भी भाजपा में अपना भरोसा दिखा रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि आगामी शनिवार को बाकी 53 जिलों में होने वाले जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में भी भाजपा जबरदस्त जीत हासिल करेगी। 

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News