Saturday, September 18, 2021
Homeलीडर विशेषआये थे सोनभद्र नाबालिग युवतियों से शादी रचाने,पहुँचे हवालात

आये थे सोनभद्र नाबालिग युवतियों से शादी रचाने,पहुँचे हवालात

पहले करते हैं सौदा फिर रचाते हैं शादी , इसके बाद ले जाते हैं राजस्थान तो कभी हरियाणा और दिल्ली , ह्यूमन ट्रैफकिंग का आसान रास्ता बनता जा रहा है सोनभद्र

सोनभद्र। एक कहावत है कि गरीबी सारे फसादों की जड़ है ,कल घटी एक घटना कुछ इसी तरह की कहानी बयां करती दिखी जब गरीब आदिवासी युवतियों के परिजनों को उनकी लड़कियों के सुनहरे भविष्य का सपना दिखा दलाल राजस्थान से आये कुछ लोगों से सौदेबाजी करने के दौरान ही पुलिस के हत्थे लग गए।

गौरतलब हो कि पिछले कुछ दिनों से सोनभद्र में आदिवासी लड़कियों को शादी के नाम पर राजस्थान, हरियाणा सहित देश के दूसरे हिस्सों में बेचने वाला एक गिरोह सक्रिय है जो गरीब मां – बाप को लालच देकर सौदेबाजी के जरिए सोनभद्र की आदिवासी युवतियां को राजस्थान व अन्य प्रांतों में अच्छे पैसे लेकर बेच दे रहे हैं। शुक्रवार की देर रात सिविल लाइंस रोड स्थित एक होटल के पास से मानव तस्करी ( Human Trafficking ) रैकेट से जुड़े चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है । पूछताछ में उनसे पुलिस को कई अहम जानकारियां मिली हैं , जिसके आधार पर जांच आगे बढ़ाई जा रही है । पकड़े गए चारों व्यक्तियों का कल दोपहर बाद जिला अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया गया उसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया।

मिली जानकारी के मुताबिक राजस्थान से आए पांच – छह लोग शुक्रवार की रात दस बजे के करीब जिला मुख्यालय के एक प्रतिष्ठित होटल के पास रुक कर , एक दलाल के माध्यम से युवतियों को शादी कर राजस्थान ले जाने के लिए सौदा करने में लगे हुए थे । मौके पर दो युवतियां भी बुलाई गई थीं। यहीं से बात बिगड़ने लगी क्योंकि दलालों द्वारा बुलाई गई युवतियों में दलालों ने एक शादीशुदा तथा एक बच्चे की मां को नाबालिग बताकर उनके सामने खड़ा कर दिया । बात आगे बढ़ती कि उम्र को लेकर किचकिच शुरू हो गई । तेज आवाज में बात शुरू हुई तो लोगों की भी नजर उधर पड़ गई और बात पुलिस तक पहुंच गई । जैसे ही पुलिस पहुंची दलाल स्थानीय होने का फायदा उठाकर वहां से फरार हो गए और कम उम्र की लड़की से शादी की इच्छा लेकर पहुंचे राजस्थान के लोग हवालात पहुंच गए ।

उधर , पुलिस अभी इस मसले पर कुछ भी कहने से बच रही है । इंस्पेक्टर सुभाष राय का कहना है कि जांच में जब तक पूरी तरह स्थिति स्पष्ट नहीं हो जाती , तब तक कुछ कहना सही नहीं रहेगा । वैसे देखा जाय तो इस मामले में घटना का एक दूसरा पहलू भी सामने आया है । चर्चाओं की मानें तो राजस्थान से जो लोग दलाल के माध्यम से शादी करने के लिए आये थे उन्हें दलालों के हांथो लुटना ही था स्थानीय दलाल कुछ ऐसा कुचक्र रचे थे कि यदि पुलिस नहीं आती तो वह लोग उन दलालों के हाथों लूटे जाते। सोनभद्र की आदिवासी युवतियां हाल के कुछ सालों से राजस्थान के लोगों की पहली पसंद बन गई हैं।

घोरावल से शुरू हुआ राजस्थान का नेटवर्क इस समय पूरे जिले में फैल गया है । लोगों की बातों पर यकीन करें तो पिछले तीन – चार सालों से प्रतिवर्ष 30 से 40 युवतियां शादी की आड़ में सौदेबाजी कर राजस्थान ले जाई जा रही हैं । इस मानव तस्करी का शिकार सबसे ज्यादा नाबालिक लड़कियां बन रही हैं । अभी कुछ समय पहले ही राबर्ट्सगंज के एक मंदिर परिसर में नाबालिग युवती से शादी रचाये जाने का मामला पकड़ में आया था जिसमें पुलिस ने दलाल और दूल्हे को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था ।

बताते हैं कि दलालों के जरिए राजस्थान के लोग गरीब मां – बाप से संपर्क करते हैं उन्हें रुपए – पैसे का लालच देने के साथ ही बेटी के सुनहरे भविष्य का सपना दिखाते हैं । उसके बाद दलाल के माध्यम से ही रुपए का लेनदेन किया जाता है और किसी मंदिर या किसी होटल परिसर में शादी रचा कर उन्हें ले जाया जाता है।चुकी आदिवासी समाज के लोग अशिक्षा के शिकार हैं इसलिए इनकी लड़कियों को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है जिसमें सोनभद्र के कुछ गिरोह सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं।जब तब इस तरह के लोग पुलिस के हाथ लगते भी हैं तो पुलिस अपना कानूनी कोरम पूरा कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर लेती है।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News